Breaking News

महासमुन्द:इमोशनल ड्रामा कर लूट को देता है अंजाम, कई लोगो को बना चुका है शिकार..

इमोशनल ड्रामा कर लूट को देता है अंजाम, कई लोगो को बना चुका है शिकार..

महासमुन्द। बसना थाना अंतर्गत एक ऐसे व्यति की पहचान की गई है जो अपने आप को मुसीबत में बताकर इमोशनल ड्रामा करता है और फिर चोरी की घटना को अंजाम देता है. सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार इस व्यक्ति का नाम सुरेश यादव है जो कि बसना समीप ग्राम अरेकेल का निवासी है और करीब 5 से 6 साल पहले इस व्यक्ति को उसके पिता ने अपने घर से निकाल दिया था.

जिसके बाद से इसका कोई निश्चित पता ठिकाना नहीं है, यह कभी भी किसी भी गांव में चला जाता है और उठाई गिरी के कामों को अंजाम देता है. जानकारी के अनुसार यह व्यक्ति जेल में सजा भी काट चूका है. और आज भी इस पर कई केश चल रहे है.

इस व्यक्ति की फ़ोटो वायरल होने के बाद चार ऐसे मामले सामने आये है जिसमे यह व्यक्ति अपने आप को मुसीबत में बताकर लोगों को चुना लगा जाता है.

पहले मामले के अनुसार बागबाहरा से खलारी मार्ग में स्थित एक ढाबे में 15 दिन कार्य करने के दौरान वहां से भी एक बाइक चोरी करने की घटना सामने आई है जिसे ढाबा संचालक ने पुलिस वालों को बताया है.

दुसरे मामले के अनुसार बसना ब्लाक अंतर्गत चिमरकेल के सरपंच को इस व्यक्ति ने अपने जाल में फसाया और उससे बाइक ले जाने में सफ़ल हुआ. गाँव के सरपंच ने बताया कि वह बिजली ठेकेदारी का काम भी करता है, और आज से लगभग 3 साल पहले दुर्गापाली में उससे सुरेश यादव मिला और अपने आप को मुसीबत में बताकर मोटर सायकल मांग किया और भरोषा दिलाया की वह जल्द सागरपाली से वापस आ जायेगा. तब सपंच ने दुर्गापाली के सेलून वाले से नया सुपर स्प्लेंडर बाइक को दिलवाया जिसके बाद वह व्यक्ति वहाँ से फरार हो गया.

चिमरकेल के सरपंच ने बताया उस घटना के 3 साल बाद इस माह की 3 तारीख़ को सुरेश यादव गढ़फुलझर के माटी कला बोर्ड के पास देखा गया था और जैसे ही सरपंच ने उसके पास जाने का कोशिश किया की तो वह व्यक्ति मोटरसायकल वहां से छोड़कर फ़रार हो गया. जिसके बाद थाना को फ़ोन करके बाइक को सुपुर्द कर दिया गया.

सरपंच ने बताया की जो बाइक बरामद हुआ है वह भी चोरी का था और आज तक दुर्गापाली निवासी सेलून वाले का मोटर सायकल भी 3 साल बीतने के बाद भी बरामद नही हो पाया. सुरेश यादव अब भी बसना क्षेत्र में बिंदास घूम -घूम कर लोगों को निशाना बना रहा है इस घटना से ऐसे लगता है की सुरेश यादव को कानून से किसी भी प्रकार का कोई भय नही है.

वहीं तीसरे मामले में यह व्यक्ति दोस्ती का फायदा उठाकर अपने एक परिचित के पास रुका और बाइक उठाकर बिना बताये चला गया. जानकारी के अनुसार ग्राम कुदारीबाहरा में यह व्यक्ति एक परिचित के घर के पास रूका तथा देर रात होने का हवाला देकर उसने रात को ग्रामीणों से अपने रुकने के लिए आग्रह किया. पुराना परिचय होने के कारण ग्रामीणों ने भी रात रुकने की हामी भर दी और देर रात जब खाना-खाकर सब सो चुके थे तभी युवक ने घर मे रखे बाइक को चुपके से पार कर दिया.

वहीं आखरी मामला बसना थाना अंतर्गत ग्राम देवरी के पास के ढाबाखार का है जहाँ एक ग्रामीण के पास बारिश होने और देर रात हवाला देकर उसके बाइक और खूंटी पर टंगा पेंट की जेब से पर्स और अन्य कीमती सामान को आधी रात को पार कर दिया था. जिसको बड़े मुश्किल से तुमगांव क्षेत्र में बाइक मिला.

यह पहले लोगों को मीठी मीठी बातों में उलझा कर हसाता है फिर दोस्ती का फायदा उठाकर घर से हाथ साफ कर देता है आप भी यदि इस प्रकार की मित्रता रखे हैं तो हो जाइए सावधान हो जाइये.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

बलौदाबाजार: राष्ट्रपिता की 150 वीं जयंती पर हर तहसील में बनेंगे बापू-वाटिका पौधे भले कम लगाए, लेकिन जिंदा जरूर रखें: कलेक्टर

🔊 Listen to this ■ राष्ट्रपिता की 150 वीं जयंती पर हर तहसील में बनेंगे …