Breaking News

धमतरी: पुलिस निरीक्षक और प्रधान आरक्षक रिश्वत लेते कैमरे में हुए कैद, डीजीपी डीएम अवस्थी ने किया सस्पेंड, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप…

पुलिस निरीक्षक और प्रधान आरक्षक रिश्वत लेते कैमरे में हुए कैद, डीजीपी डीएम अवस्थी ने किया सस्पेंड, पुलिस महकमे में मचा हड़कंप…

धमतरी। जिले के सिटी कोतवाली में दर्ज एक मामले में फरियादियों से घूस लेने के आरोप में टीआई और हेड कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया गया है. ये कार्रवाई सीधे डीजीपी डीएम अवस्थी ने की है. डी.एम.अवस्थी ने थाना कोतवाली में पदस्थ पुलिस निरीक्षक उमेंद टंडन और प्रधान आरक्षक उत्तम निषाद के विरूद्ध भ्रष्टाचार की शिकायत पर तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है.

बताया जा रहा है कि महानदी एडवाइजरी नामक चिटफंड कंपनी के डायरेक्टर्स ग्राहकों और निवेशकों को करोड़ों रुपए का चूना लगाकर फरार हो गया. डायरेक्टर की गिरफ्तारी नहीं होने पर एजेंटों और निवेशकों ने जिला एवं पुलिस प्रशासन से शिकायत की थी. वहीं इस मामले में सिटी कोतवाली धमतरी में एफआईआर दर्ज करवाया गया है. काफी समय बाद भी गिरफ्तारी की कार्रवाई नहीं होने से एजेंटों और निवेशकों ने धरना प्रदर्शन भी किया था.

इस मामले में गिरफ्तारी की कार्रवाई को लेकर फरियादियों से रुपयों का लेनदेन हुआ था. तभी किसी ने लेनदेन का वीडियो फुटेज तैयार कर लिया था. इस फुटेज के आधार पर कुछ दिनों पहले डीजीपी डीएम अवस्थी से शिकायत हुई थी. डीजीपी ने इस मामले में कोतवाली टीआई उमेंद्र सिंह टंडन और हेड कांस्टेबल उत्तम निषाद को संलिप्त पाते हुए दोनों को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है. निलंबन अवधि के दौरान दोनों रक्षित आरक्षी केंद्र रुद्री में अटैच रहेंगे.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

बलौदाबाजार: राष्ट्रपिता की 150 वीं जयंती पर हर तहसील में बनेंगे बापू-वाटिका पौधे भले कम लगाए, लेकिन जिंदा जरूर रखें: कलेक्टर

🔊 Listen to this ■ राष्ट्रपिता की 150 वीं जयंती पर हर तहसील में बनेंगे …