Breaking News

Breaking news: शादी समारोह में गई एक किशोरी का अपहरण कर दो युवकों ने किया दुष्कर्म, पीडीत पक्ष की नही सुनी पुलिस तो पीडीत परिवार ने आईजी को शिकायत पत्र सौंपकर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई करने की मांग…

शादी समारोह में गई एक किशोरी का अपहरण कर दो युवकों ने किया दुष्कर्म, पीडीत पक्ष की नही सुनी पुलिस तो पीडीत परिवार ने आईजी को शिकायत पत्र सौंपकर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई करने की मांग…बलरामपुर. जिले के शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत शादी समारोह में गई एक किशोरी का अपहरण कर दो युवकों ने दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया है. यही नहीं जब पीडि़ता घटना की जानकारी अपने परिजनों को बताई और परिजन ने युवकों से पूछताछ की तो आरोपियों ने परिजन की भी जमकर पिटाई कर दी. पीडि़त परिवार घटना की शिकायत करने शंकरगढ़ थाना पहुंचे तो वहां भी उनकी फरियाद नहीं सुनी गई। पीड़ित परिवार का आरोप है कि थानेदार ने आरोपी पक्ष से समझौता करने की बात कहकर उन्हें वापस भेज दिया. वही उनके परिवार में आरोपियों के द्वारा समझौता के लिए अनावश्यक दबाव बनाने लगे। जब पीड़िता को न्याय नहीं मिला तो पीडि़ता अपने परिजन के साथ गुरुवार को अंबिकापुर पहुंचकर आईजी से मुलाकात की. पीड़ित परिवार ने आईजी को शिकायत पत्र सौंपकर आरोपियों के खिलाफ अपराध दर्ज कर निष्पक्ष कार्रवाई करने की मांग की है। जिसके बाद आईजी ने इस मामले को संज्ञान में लेकर तत्काल बलरामपुर अतरिक्त पुलिस अधीक्षक को जांच कर कार्यवाही करने के लिए निर्देशित किया। बता दे कि शंकरगढ़ थाना क्षेत्र अंतर्गत एक गांव की 16 वर्षीय किशोरी 11 मई को गांव में एक शादी समारोह में गई थी. इसी दौरान किशोरी की मुलाकात उसके पहचान के युवक ग्राम खैराडीह निवासी धर्मेंद्र यादव पिता रविंद्र यादव 24 वर्ष से हुई. युवक किशोरी को बहला-फुसलाकर अपने साथ बाहर लेकर चला गया. कुछ दूर जाने के बाद अनिल यादव सूनसान जगह पर बाइक लेकर खड़ा था. पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद दोनों युवक उसे जबरन बाइक में बैठाकर ग्राम पटोरा लेकर गए. वही अनिल यादव किशोरी को एक घर में लेकर गया और उसके साथ दोनों जबरन 2 दिनों तक दुष्कर्म करते रहे। पीड़िता ने जब विरोध किया और शोर मचाने लगी तो आरोपी युवक उसे परिजन के घर छोड़कर फरार हो गए. पीड़िता ने परिजन को आपबीती सुनाई तो परिजन के पैर से जमीन खिसक गया. पीड़िता के पिता और भाई आरोपियों से घटना की जानकारी लेने पहुंचे तो दोनों आरोपी और उनके पिता ने मिलकर पीड़िता के पिता और भाई की बेदम पिटाई की। पीड़िता का आरोप है कि इस दौरान आरोपियों का 25 अन्य लोगों ने भी साथ दिया और पीड़िता की भी जमकर पिटाई की. वहीं जब पीड़िता और उसके परिवार ने मामले की शिकायत शंकरगढ़ थाने में की तो थानेदार ने शिकायत दर्ज कराने से इनकार कर दिया. गुरुवार को पीड़िता और उसके परिजन ने अंबिकापुर पहुंचकर आईजी केसी अग्रवाल से मुलाकात की. इस दौरान पीड़ित परिवार ने आरोपियों सहित शंकरगढ़ थानेदार के खिलाफ भी गंभीर आरोप लगाए. पीड़ित परिवार ने आईजी को शिकायत की कि थानेदार ने एफआईआर दर्ज नहीं की. पीड़िता और उसके परिवार ने आईजी से मांग की है कि मामले की जांच उच्च अधिकारियों से करा कर आरोपियों के खिलाफ कड़ी से कड़ी कारवाई की जाए. आईजी ने पीडि़ता को निष्पक्ष रूप से न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है. एडिशनल एसपी ने लिया बयान आईजी के निर्देश के बाद बलरामपुर के अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रशांत कतलम शंकरगढ़ थाने पहुंचे. यहां उन्होंने पीडि़ता व परिजन का बयान लिया। उन्होंने बताया कि इस पर जांच चल रही है जांच के बाद कार्रवाई की जायेगी.

Website Design By Mytesta +91 8809666000

Check Also

Breaking news:सरसीवा के गोपाल के पास अज्ञात ट्रक ने एक युवक को ठोकर मार दी, जिससे युवक का मौके पर ही मौत ,गुस्साये परिजन ने की चक्का जाम …

🔊 Listen to this Breaking news:सरसीवा के गोपाल के पास अज्ञात ट्रक ने एक युवक …